Skip to main content

Violence against Women in Taliban

 अफगानिस्तान में महिलाओं के लिए कैसे-कैसे क्रूर कायदे हैं

 

(women are forbidden to wear high heels in Taliban ruled Afghanistan)Violence against Women in Taliban 

महिलाओं के हाई हील्स पहनने पर पाबंदी

Violence against Women in Taliban
Taliban-girl


तालिबान का मानना है कि ऊंची एड़ी से होने वाली आवाज पुरुषों को सुनाई दे तो वे रास्ता भटक जाते हैं. यहां तक कि महिलाएं या बच्चियां ऊंची आवाज में बात नहीं कर सकतीं. वे इतना धीमे बोलें कि किसी भी अनजान आदमी को उसकी आवाज सुनाई पड़े.Violence against Women in Taliban 


घरों की खिड़की या बालकनी से देखने पर मनाही

तालिबानी शासन में महिलाओं पर क्रूरता की झलक कई बातों से मिलती है. जैसे वहां लड़कियां या औरतें बगैर बुरका और बिना किसी पुरुष के साथ के बाहर नहीं जा सकतीं. ऐसा करने पर कड़ी सजा का नियम है. इसके अलावा वे घर से बाहर की झलक भी नहीं ले सकतीं. तालिबान-राज वाले इलाकों में घरों के नीचे फ्लोर की खिड़कियां बंद कर दी जाती हैं, और उनपर पेंट की मोटी परत चढ़ा दी जाती है ताकि किसी बाहरी आदमी की नजर घर की स्त्रियों पर पड़ जाए. बालकनी या छत पर औरतों के जाने की मनाही है

 Also Read- Indian girl rape 

तालिबान-शासित अफगानिस्तान में महिलाओं के हाई हील्स पहनने पर पाबंदी है. तालिबानी धर्मगुरुओं के मुताबिक हील्स की आवाज से पुरुष रास्ता भटक जाते हैं.

 

अमेरिकी सेना की अफगानिस्तान से रुखसती के साथ ही तालिबान अपने चरम पर गया. कथित तौर पर देश के 80 फीसदी से ज्यादा हिस्से पर तालिबान कब्जा जमा चुका है और कोहराम मचा रहा है. हालांकि इस सबके बीच सबसे खराब हालत अफगानिस्तान में महिलाओं की हो सकती है. हाल ही में तालिबान ने कथित तौर पर 15 से 45 साल की अकेली महिलाओं और विधवाओं की सूची बनाकर देने को कहा ताकि उनसे तालिबानी लड़ाका शादी कर सकें. महिलाओं पर हिंसा में तालिबानी राज (Taliban laws and punishments in Afghanistan) को पहले भी जाना जाता रहा है.

 


शादी के लिए महिलाओं की सूची मांगी

तालिबान कल्चर कमीशन ने एक चिट्ठी जारी कर अपने क्षेत्र के मुस्लिम धर्माधिकारियों से संपर्क किया. सन में छपी इस रिपोर्ट के मुताबिक, तालिबान चाहता है कि उन्हें 15 साल से ज्यादा की उम्र की लड़कियों और उन विधवाओं की लिस्ट दी जाए, जिनकी उम्र 45 साल से कम है. तालिबान इनसे अपने लड़ाकों की शादी करवाएगा और बेहतर जिंदगी देगा. इसके बाद से अफगानिस्तान के आम लोगों में अफरातफरी मची हुई है.


तालिबानी मानसिकता हमेशा से ही महिलाओं को दोयम दर्जे का समझने की

साल 2001 में अमेरिकी दखल से पहले यहां कई नियम थे, जो महिला आजादी को पूरी तरह खत्म कर चुके. मिसाल के तौर पर यहां 8 साल या उससे ऊपर की लड़कियां घर से बाहरी पुरुषों के साथ खुले में बात नहीं कर सकतीं. केवल पिता या सगे भाई से ही बात करने की अनुमति है.

 

30 real jobs during coronavirus lockdown

अनाथालय की बच्चियों ने झेला नर्क

काबुल में लड़कियों के सबसे बड़े अनाथालय तस्किया मस्कान में पूरे एक साल के लिए लगभग 400 लड़कियां कैद में रहीं. असल में हुआ ये कि महिलाओं के काम करने के खिलाफ तालिबान ने अनाथालय से महिला स्टाफ को हटा दिया. ऐसे में बच्चियां पूरी तरह से तालिबान के रहम पर निर्भर हो गई थीं. वे सालभर तक अनाथालय में कैद रहीं. इस बात का जिक्र बच्चों के अधिकारों पर काम करने वाली इंटरनेशनल संस्था Terre des hommes ने किया था.

महिलाओं की हेल्थ खतरे में

अफगानिस्तान में रह रही महिलाओं की सेहत पर सबसे ज्यादा पड़ेगा, इसकी आशंका जताई जा रही है. दरअसल पहले अफगानिस्तान में पुरुष डॉक्टर भी महिला मरीज को देख सकते हैं लेकिन तालिबानी कायदा इसे गलत मानता है. साथ ही वो महिला डॉक्टरों को भी काम करने की इजाजत नहीं देता. इसे देखते हुए साल 2001 से पहले बहुत सी महिला डॉक्टर चुपके-चुपके घरों से काम करने लगीं लेकिन जल्द ही मेडिकल सप्लाई खत्म हो गई और काम रुक गया.

 

Violence against Women in Taliban
Afghanistan-girl

हक की बात करने वाली महिलाओं की हत्या

अस्सी-नब्बे के दशक में तालिबानी क्रूरता अपने चरम पर थी. अफगानिस्तान में रहती ज्यादातर महिलाएं अवसाद या तनाव में चुकी थीं. किसी से मिलने की मनाही के कारण वे अपनी परेशानियां तक नहीं बांट पाती थीं. ऐसे में रिवॉल्यूशनरी एसोसिएशन ऑफ वीमन इन अफगानिस्तान (RAWA) ने महिला आधिकारों पर खुलकर बात शुरू की. मीना केशवर कमल नाम की महिला इस संस्था की फाउंडर थी. हालांकि तालिबान ने साल 1987 में उनकी बर्बर हत्या कर दी.

 

.

कहीं भी महिलाओं का नाम या तस्वीर नहीं

तालिबान के कब्जे में आए इलाकों से महिलाओं का नाम हटाने की मुहिम चल पड़ी है. इसमें दुकानों या पार्लर या कहीं भी महिलाओं की तस्वीर नहीं होनी चाहिए. किसी विज्ञापन में महिला नहीं दिख सकती. यहां तक कि अगर कोई पार्क या दुकान या संस्थान किसी महिला के नाम पर है, तो उसे भी बदलकर कुछ और किया जाएगा. ये साल 2001 से पहले भी होता रहा है.

 


अकेली औरत का बाहर जाना मना है

इस कायदे के कारण युद्ध में घर के पुरुषों को खो चुकी महिलाएं दोहरी मुसीबत झेल रही हैं. जैसे कुछ समय पहले एक महिला को अकेले बाहर निकलने पर कोड़ों से पीटा गया. महिला का तर्क था कि लड़ाई में उसके परिवार के सारे पुरुष खत्म हो गए. ऐसे में वो किसके साथ बाहर निकले और अगर निकले तो जिंदा कैसे रहे. हालांकि क्रूर तालिबान में इन तर्कों के लिए कोई जगह नहीं.

 

Comments

Popular posts from this blog

corona virus medicine found

Coronavirus continues infecting people worldwide, now a days every one want to live happily with family & friends but it seems that Corona virus don't want to see us happy with friends & family. Day by day Corona virus is spreading worldwide, Many Govt & Private companies have invented medicines for Corona Virus. There are so many govt and private officials are arranging medicines for Cornavirus , Dr Smith A.J from American Central Hospital is providing you a musk along with Coronavirus med kit,which will help you to keep away from Coronavirus. Also Read 150 Best Side Business  Ideas  for 2020 which may change your life.   Coronavirus med kit is completely free of cost by  NGO, You have to pay only Postal Charges. Corona-virus-medicine Want to earn some e xtra money? click here What is coronavirus and what should I do if I have symptoms? What are the symptoms caused by the virus from Wuhan in China, how does it spread, and

Joe Biden

    Joe Biden Joe Biden age     Joe Biden policies Joe Biden net worth     Joe Biden vs trump Joe-biden Joe Biden us president     Joe Biden Born            November 20, 1942 in Scranton, Pennsylvania, USA Birth Name     Joseph Robinette Biden Jr. Nicknames     Big-hearted Joe Uncle Joe Amtrak Joe                        Sleepy Joe Sloppy Joe Mr.Magoo Height             6' (1.83 m) Joe Biden Spouse          Jill Biden Nellie Hunter Trade Mark    Aviator sunglasses Joe Biden was born on November 20, 1942 in Scranton, Pennsylvania, USA as Joseph Robinette Biden Jr. He is an actor, known for John McCain: For Whom the Bell Tolls (2018), The Cancer Moonshot Story and Lorena (2019).  He has been married to Jill Biden since June 17, 1977. They have one child. He was previously married to Nellie Hunter.   Biden's father was initially wealthy but had suffered several financial setbacks by the time Biden was born; for several years the family lived with Biden

Comedian Bharti Singh Shared her Struggle Life!

Comedian Bharti Singh Shared her Struggle Life! Bharati is an example for people who often suffer from low-grade complications due to obesity. Bharati is responsible for her obesity for her success. She says I consider obesity, talent and motherhood as the reason for my success. bharti singh The unique personality of the comedy world, 'Lalli' i.e. 'Bharati Singh' has struggled to reach this stage of his life. At a young age the shadow of the father rises from the head and then begins the journey towards trouble and deprivation. Bharati says that everything she is doing today is due to her obesity and motherhood. Bharati believes that no matter how funny a comedian is on stage, it is true that everyone has their own problems and sorrows. We have to forget everything as soon as we get on stage. He said we cry for one moment and the second we have to make the other laugh. kapil sharma show Bharati, who won a gold medal in pistol s